The castle under the sea story in hindi

The castle under the sea

एक समय की बात है समुद्र के नीचे नाविकों और मछुआरा का एक द्वीप था।  उस दीप का राजा था मेनड्रिन। इस राज्य के लोग बहुत खुश होते यदि इस राज्य का एक शत्रु ना होता।

नाव, नहीं यह नहीं हो सकता। समुद्र के नीचे एक राज कुमार हैं उन्हें हमें तंग करके क्या मिलता है। जल्दी-जल्दी चप्पू जलाकर किनारे पहुंचो,  जल्दी पहुंचो। लगता है मेरे जाल में जरूर एक बड़ी मछली फसी है। बचाओ हमें बचाओ लगता है यह राजकुमार के दुष्ट दरिंदों में से एक है - एक नाविक ने दूसरे नाविक से कहा।

पिछले सप्ताह समुद्र की राजकुमार ने हमारी नावों पर पांच बार हमला किया है महाराज- महामंत्री ने राजा से कहा

महाराज हमारे प्रयास उससे लड़ने और उसे ढूंढने में असफल हो गए- सेनापति ने राजा से कहा

चिंता न करें पिताजी मैं उसे ढूंढ लूंगा और उसे पकड़ लूंगा मैं जादू करने की सारी किताबें पढ़ लूंगा और उन सबका बदला लूंगा जो कहर उसने हमारे लोगों पर ढाया है - छोटा राजकुमार

नन्हा राजकुमार ने इतना दृढ़ निश्चय कर लिया था कि सागर के राजकुमार को डर लगने लग गया था । कुछ दिनों बाद छोटा राजकुमार सागर में नाव चला रहा था ,तभी सागर के राजकुमार ने ऐसा भवर उत्पन्न किया कि छोटे राजकुमार की नाव डूब गई जबकि उसने बाकी के लड़कों को पानी की सतह पर तैर कर बाहर आने दिया ।सागर के राजकुमार ने छोटे राजकुमार को कस कर पकड़ लिया और खींचकर उसे महल में ले गया । पूरा राज्य अपने राजकुमार की अपहरण की खबर सुनकर भयभीत हो गया। पूरा राज्य निराशा में डूब गया

क्या हमेशा ऐसा होने वाला है क्या हम उस दुष्ट सागर के राजकुमार के हाथों द्वारा हमेशा सताए जाते रहेंगे -राज्य के एक नागरिक ने कहा
राज्य का दूसरा नागरिक -हमने कभी उसे नुकसान नहीं पहुंचाया हम तो बस यही चाहते हैं कि हम  शांति पूर्वक इस द्वीप में रहें। सागर का राजकुमार हमें प्रताड़ित करके क्यों आनंदित होता है।

राज्य का नागरिक -यह उसका डर है ।उसने सच में सोच लिया है कि राजकुमार बड़ा होकर उसे हरायेगा।

मरलीना -इसका मतलब इस सागर के महाराज को हराने का एक तरीका जरूर है चाचा जी

मरलीना के चाचा- तुम हमेशा इतना सकारात्मक कैसे रह पाती हो मरलीना ।उस सागर के दुष्ट राजकुमार को मारने का उपाय कौन ढूंढेगा।

 मरलीना - काश मैं कर पाती। पर आप चिंता मत करिए चाचा जी। कुदरत कोई ना कोई तरीका ढूंढ लेती है जरूरतमंदों की मदद करने के लिए और सागर का राजकुमार भी तो इतना दुष्ट नहीं है।

तुम ऐसा कैसे कह सकती हो मरलीना। तुमने देखा नहीं उसने क्या किया ।

मरलीना - खैर उसने यही किया है कि हमारी नाव पलट दी है और हमें डराया है दुष्ट दरिंदों से। और उसने हमें किसी बुरे तरीके से नुकसान नहीं पहुंचाया मेरा मतलब हम द्वीप के लोग पानी के इतने आदी हो गए हैं के हम घंटों पाने के नीचे रह सकते हैं मछलियों की तरह और जो कुछ भी सागर का राजकुमार करता है वह हमें डराता ही है या तंग करता है लेकिन असल में वह हमें किस किसी तरह की चोट नहीं पहुंचाता। और मुझे यकीन है कि हमारा राजकुमार भी उसके पास सुरक्षित ही है और मेरा ख्याल है कि सागर का राजकुमार अकेलेपन का शिकार है।

केवल मरलीना ही सागर के राजकुमार में अच्छाई ढूंढ सकती है सचमुच तुम्हारी करुणा के एहसास का कोई जवाब नहीं।

आप पढ़ रहे हैं - The castle under the sea story in hindi


राज्य के मुख्य विद्वान ने अपने आप को एक  गुफा में बंद कर लिया था वह साहित्य और जादू की सारी किताबें पढ़ रहा था दुष्ट सागर के राजकुमार को हराने का उपाय ढूंढने के लिए

 अंत में उसे जवाब मिला और वह वहां  बढ़ चला जहां मरलीना रहती थी। मुख्य विद्वान मरलीना के घर पहुंचा उसका पिता नाविक रिवान उस समय घर पर ही था। रिबान मुख्य विद्वान को अपने घर देखकर हैरान रह गया।
रिबान-  स्वयं मुख्य विद्वान पधारे हैं अंदर आइए हुजूर बताइए मैं आपके लिए क्या कर सकता हूं  हुजूर

मुख्य विद्वान- मैं तुम्हारे साथ तुम्हारी बेटी मर लीना के बारे में बात करने आया हूं मुझे अपने राजकुमार को छुड़ाने के लिए उसकी जरूरत है

रिबान-  खैर यह छोटी बच्ची है हुजूर यह कैसे सागर की राजकुमार का महल  ढूंढ पाएगी। जबकि राजा की सेना भी उसे ढूंढ नहीं पाई हो।

मुख्य विद्वान- मैं लंबे अरसे से सागर की राजकुमार के  किदवन्ती का अध्ययन करते रहा हूं। राजकुमार डर और उत्पीड़न से ऊर्जा पाकर जीवित है। और मुझे तुम्हारी बेटी जैसी चाहिए उसे हराने के लिए

रिबान-  मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा

मुख्य विद्वान- मैं तुम्हारी बेटी के बारे में 3 बातें पूछना चाहता हूं
क्या मरलेना ने कभी किसी को चोट पहुंचाई है

रिबान- नहीं कभी नहीं शायद ही कोई पुरुष स्त्री बच्चा पौधा या जानवर होगा जो कह सकेगा कि मेरी मरलीना ने उन्हें चोट पहुंचाई हो। वह तो यह सोचती है कि सागर का राजकुमार भी दुष्ट नहीं है ।वह तो भयभीत है और अकेलेपन का शिकार है।

मुख्य विद्वान-  बहुत ही बढ़िया दूसरा सवाल क्या मरलीना अच्छाई और  आशा के सामर्थ्य पर विश्वास करती है।

 रिबान-  अरे हां वह हमेशा कहती है कि कुदरत हमेशा उसकी मदद करती है जो कभी किसी को नुकसान नहीं पहुंचाता और दरअसल उसे तो यकीन है कि कोई तो तरीका होगा राजकुमार को वापस लाने का।

 मुख्य विद्वान- बहुत ही बढ़िया और तीसरा प्रश्न क्या तुमने कभी देखा है मरलीना डरी हुई हो

रिबान-  मेरे ख्याल से नहीं क्योंकि वह लोगों और कुदरत पर भरोसा करती है। वह किसी भी बात से कभी नहीं डरती और साथ ही सच बोलती है और उसे डरने की कोई जरूरत भी नहीं है।

मुख्य विद्वान- तो ठीक है मरलीना को बुलाओ

 रिबान- मरलीना मरलीना इधर आओ बच्ची

मरलीना आती है और मुख्य विद्वान को प्रणाम करती है मुख्य विद्वान मरलीना से राजकुमार को बचाने के लिए कहते हैं मरलीना कहती है कि हां उसके लिए बहुत सौभाग्य की बात होगी पर सागर के नीचे वह दुष्ट सागर का राजकुमार है ।

 मरलीना-  यदि सागर का राजकुमार हमें चोट पहुंचाना चाहता तो वह और भी तबाही वाले रास्तों से ऐसा कर सकता था ।मैं सचमुच ही विश्वास करती हूं कि वह बहुत अकेला है और साथ ही डरने को क्या है । मैं समंदर को जानती हूं और उसके अंदर के प्राणी मेरे दोस्त हैं।

मुख्य विद्वान- तो ठीक है फिर यह तय हो गया कि तुम्हें जाना होगा और हमारे राजकुमार को वापस लाना होगा ।

 मरलीना-  अवश्य पर कैसे

मुख्य विद्वान-  कैसे तो पता नहीं ।पर तुम जब पानी में होगी तब तुम्हारी करुणा ,तुम्हारी ममता, तुम्हारी अच्छाई और निडरता तुम्हें मार्ग दिखाएगी।

 तो अगले दिन पूरा राज्य तट पर खड़ा था जब मरलीना ने निडरता से समुद्र में गोता लगाया अपने नन्हे राजकुमार को ढूंढने के लिए। जल्द ही वह सागर के राजकुमार के महल में पहुंच गई ।महल का फाटक पत्थर का बना हुआ था और उसके पहरेदारी दो दानव कर रहे थे।

दानव-  तुम कौन हो और तुम क्या कर रही हो

मरलीना- मैं मरलीना हूं और मैं ऊपर के द्वीप राज्य से आ रही हूं । और मैं यहां अपने राजकुमार को छुड़ाने आई हूं ।

मरीना झूठ नहीं बोलती थी लेकिन दानव उस पर विश्वास नहीं कर रहे थे कि द्वीप का राज्य छोटी बच्ची को राजकुमार को बचाने के लिए भेजेगा। ना ही उन्होंने यह सोचा कि जब द्वीप की सेना राजकुमार को बचाने में असफल हो चुकी है तो एक छोटी बच्ची कैसे राजकुमार को बचा सकती है । अतः उन्होंने उसे जाने दिया। अगला फाटक एक पानी का बुलबुला था ।मरलीना उसके आर पार महल को देख सकती थी। महल ऐसा था जैसे वह पानी के बुलबुलों से बना हो ।केवल बुलबुले ही लंबी दीवार, लंबी मीनार और खंभों की शक्ल में थे ।और जिन की हिफाजत बुलबुले का फाटक कर रहा था ।

जैसे ही मरलीना ने बुलबुले को छुआ बुलबुले ने उसे निगल लिया ।कोई भी डर सकता था उस बुलबुले के अंदर कैद होकर लेकिन मरलीना का विश्वास नहीं डगमगाया ।

पानी और बुलबुले कुदरत के द्वारा बने होते हैं और कुदरत उनकी मदद करती है जो किसी को नुकसान नहीं पहुंचाते जैसे ही मरलीना ने यह शब्द कहे अपने हृदय में पूरे विश्वास और यकीन के साथ उसके आसपास का बुलबुला फट गया और उस बुलबुले के साथ पूरा पर महल फटने लगा । सागर का राजकुमार मीनारों  और खंभों को फटता देखकर  डर गया । मरलीना वहां पर गई जहां वह था। सागर का राजकुमार बचकर निकलने लगा उसने कभी यह सोचा नहीं था कि उसका जादुई महल तबाह हो जाएगा ।वह भी छोटी बच्ची के द्वारा जो उन दानवों के पहरे से भी गुजर गई।

 पर इससे पहले वह बच निकल पाता मरलीना ने उसे पुकारा -सागर के राजकुमार कृपया मत भागो हम दोस्त बन सकते हैं।

सागर का राजकुमार- जानते हो तुम दोस्त क्या तुम मुझसे डरती नहीं हो । इस वक्त मेरे ख्याल से तुम मुझसे डर रहे हो और मैं जानती हूं कि तुम दुष्ट नहीं हो।  यदि तुम सचमुच नुकसान पहुंचाना चाहते तो हमारे राजकुमार को चोट पहुंचाई होती ।
तुम सोचती हो कि मैं दुष्ट नहीं हूं उसके बाद भी जब कि मैंने तुम्हारे लोगों को तंग किया।

मरलीना- मेरे ख्याल से तुम तन्हा हो तुम्हें दोस्तों की जरूरत है ।

सागर का राजकुमार- मेरा दोस्त कौन बनना चाहेगा हर कोई सोचता है कि मैं दुष्ट हूं।

मरलीना-  मेरे साथ आओ ऊपर के संसार को देखो। दीप में कोई भी तुम्हें चोट नहीं पहुंचाएगा।

 सागर का राजकुमार-  किसी ने भी यह जानने की कोशिश नहीं की कि आखिर में ऐसा व्यवहार क्यों कर रहा हूं और तुम पहली ऐसी शख्स जिसने मेरी तरफ दया का हाथ बढ़ाया है।

इस प्रकार सागर का राजकुमार मरलीना के साहस की वजह से सागर से बाहर आ गया। उसने लोगों को सताना बंद कर दिया ।  राज्य के लोग अब बिना किसी डर के रहने लगे

Moral of the story - इस कहानी the castle under the sea से हमें शिक्षा मिलती है कि यदि हम किसी के साथ गलत नहीं करते तो कुदरत हमेशा हमारा साथ देती है।

The castle under the sea video in hindi


अन्य परी कथा







Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...